नयी दिल्ली : राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस नेता सचिन पायलट पर हमले तेज कर दिये हैं, ऐसे में पार्टी ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनके मतभेदों को इस तरह सुलझाया जाएगा कि पार्टी मजबूत हो।

कांग्रेस ने यह भी कहा कि इस समय ध्यान भारत जोड़ो यात्रा की सफलता पर होना चाहिए।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने एक बयान में कहा, ‘‘अशोक गहलोत वरिष्ठ और अनुभवी नेता हैं। उन्होंने अपने कनिष्ठ सहयोगी सचिन पायलट के साथ जो मतभेद जाहिर किये हैं, उन्हें इस तरह से सुलझाया जाएगा कि कांग्रेस पार्टी मजबूत हो।’’

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘इस समय प्रत्येक कांग्रेस कार्यकर्ता की जिम्मेदारी पहले ही व्यापक रूप से सफल भारत जोड़ो यात्रा को उत्तर भारत के राज्यों में और अधिक प्रभावशाली बनाने की है।’’

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान में प्रवेश से कुछ दिन पहले राज्य के मुख्यमंत्री गहलोत ने पायलट पर निशाना साधते हुए बृहस्पतिवार को उन्हें ‘गद्दार’ करार दिया और कहा कि उन्हें कभी राजस्थान का मुख्यमंत्री नहीं बनाया जा सकता।

पायलट ने गहलोत के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इतने अनुभव वाले किसी व्यक्ति को ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता।

ये बयान ऐसे समय में भी आये हैं जब गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अपने चरम पर है और गहलोत राज्य में पार्टी के वरिष्ठ पर्यवेक्षक हैं।