मुंबई, 24 नवंबर (भाषा) अपने ट्वीट में वस्तुत: गल्वान घाटी में 2020 में हुए संघर्ष का जिक्र कर विवाद खड़ा करने वाली अभिनेत्री रिचा चड्ढा ने बृहस्पतिवार को माफी मांगी।

रिचा अपना ट्वीट हटा चुकी हैं जिसमें उन्होंने सेना की उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी के बयान पर जवाब दिया था।

सैन्य अधिकारी ने अपने बयान में कहा था कि भारतीय सेना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) पर पुन: नियंत्रण के लिए सरकार के आदेश का इंतजार कर रही है।

इस पर प्रतिक्रिया में रिचा ने लिखा, ‘‘गल्वान हाय (नमस्ते) कह रहा है।’’

इसके बाद अनेक लोगों ने ट्विटर पर अभिनेत्री को आड़े हाथ लिया और उन पर भारतीय सैनिकों की शहादत का मजाक उड़ाने का आरोप लगाया।

विभिन्न मुद्दों पर बेलाग टिप्पणी करने वाली रिचा चड्ढा ने कहा कि वह भारतीय सेना की भावनाओं को आहत नहीं करना चाहती थीं।

उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरी मंशा बिल्कुल नहीं थी, फिर भी जिन तीन शब्दों पर विवाद खड़ा किया जा रहा है, उनसे किसी को चोट पहुंची हो तो मैं खेद जताती हूं और यह भी कहती हूं कि यदि मेरे शब्दों से बिना इरादे के भी फौज में मेरे भाइयों के अंदर ऐसी कोई भावना आई हो तो मुझे दुख है। मेरे नानाजी भी सेना में थे।’’

देश के सशस्त्र बलों में अपने परिवार के योगदान को रेखांकित करते हुए अभिनेत्री ने कहा कि उनके नाना भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल थे और उन्हें 1965 के भारत-चीन युद्ध के दौरान टांग में गोली लगी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरे खून में है। जब एक बेटा देश की सेवा करते हुए शहीद होता है या घायल भी होता है तो पूरा परिवार प्रभावित होता है। यह मेरे लिए भावनात्मक मुद्दा है।’’

भारत और चीन के बीच 29 महीने से अधिक समय से पूर्वी लद्दाख में सीमा पर गतिरोध की स्थिति बनी हुई है। जून 2020 में पूर्वी लद्दाख की गल्वान घाटी में संघर्ष के बाद द्विपक्षीय संबंधों में और तनाव आ गया था।